Monday, December 5Welcome to hindipatrika.in

2020 में दुनिया का अंत! क्या सच होगी भविष्यवाणी? सच जानने के लिए पूरा पढ़ें

EARTH

क्या हुआ आप चौक गाए, जी यह एक भविष्यवक्ता की भविष्यवाणी है जिनका नाम “जॉन ऑफ पोटेमस” जिन्होंने ‘बुक ऑफ रिविलेशन’ के 5 से 8 अध्याय में धरती पर होने वाली घटनाओं की भविष्यवाणी की थी. जिसमे उन्होंने सातवीं सील में दुनिया के अंत की भविष्यवाणी की गई है|

यही नहीं उनके गुरु ‘ग्रेग सेरेडा’ भी “जॉन ऑफ पोटेमस” के बुक ‘बुक ऑफ रिविलेशन’ से इत्तेफाक रखते हैं और वे इस बात को मानते हुए कहाँ की निश्चित ही सातवीं सील खुलने पर दुनिया का सर्वनाश होगा |

Red Moon

इस बात को कई YouTuber और blogger ने भी ये दावा किया है की ‘बुक ऑफ रिविलेशन के अनुसार 2020 मे . सातवीं सील खुलेगी और उसके बाद मानव जाती का इस धरती से अंत हो जाएगा | साथ ही वे छठी सील की भी बात किए है जिसमे बहुत से बात उन्होंने शेयर किया है लेकिन सबसे चौकने वाली बात ये है की 2020 मे जो कुछ दावा किया गया है और जिस तरह के तथ्य बताएं गये है ओ अपने आप मे पढ़ने लायक है |

आप जान कर हैरान होंगे की ‘ग्रेग सेरेडा’ का अनुसार, ‘सातवीं सील में जीसस के आने का जिक्र किया गया है, यदि आप ‘बुक ऑफ रिविलेशन’ पढ़ेंगे तो आप ये भी पाएंगे की हम अभी जिस युग में हम जी रहे हैं के अनुसार वो छठी सील है |

ऐसे तमाम बाते आप को मिलेगी इस बुक में, इस बुक मे एक और बात लिखी है दुनिया के अंत होने की जिसमे लिखा गया है की आसमान के तारे में भी टूटकर जमीन पर आ गिरेंगे ये नजारा ऐसा होगा जिसे इंसान चाह कर भी नहीं रोक पाएगा, दुनिया के सभी इंसान खुद अपनी आंखों से दुनिया का अंत होते देखेगा जो सबसे भयावह होगा ऐसा मौत नया इंसान ने कभी देखा होगा और नया कभी देखेगा | इस बुक की छठी सील के भविष्यवाणी में ये भी बोल गया है की जोरदार भूकंप आने की भविष्यवाणी की गई है, ये ऐसा समय होगा जब सूरज का रंग काला पड़ने लगेगा और चांद खून की तरह लाल चमकेगा |

आप को ऐसे बहुत भविष्य व्यक्ता मिलेंगे जिन्होंने अलग-अलग समय मे भविष्यवाणीयां की है, ऐसे ही भविष्यवाणी का जिक्र ‘गोसपेल्स’ में भी किया गया है, जिसमे धरती, चांद, सूरज और सितारे के विनाश का जिक्र किया गया है |

कुछ ऐसे ही कथाकथित बातें मैथ्यू ने भी किया है उनके अनुसार एक चैप्टर में जीजस के बातों का भी जिक्र है जिसमे जीजस ने कहा था की “ग्रेट ट्रिबुलेशन” के बाद सूरज का रंग काला पड़ जाएगा, सितारे टूटकर जमीं टूट कर गिरेंगे और चांद अपनी चमक खो बैठेगा जिसके बाद पूरे दुनियाँ को तवाह कर देगा |

आप को बात दें की ‘सेरेडा’ एक बिचरक थे जिन्होंने ‘बुक ऑफ रेविलिशन’ के पिछले 100 सालों में हुई बड़ी दुर्घटनाओं को जोड़कर जो अपना मत रखा है उसे भी आप जान कर हैरान रह जाएँगे | उनके विवेचना के अनुसार ‘बुक ऑफ रेविलिशन’  के बहुत से बातें धीरे-धीरे सच्ची होती जा रही है जो अपने आप मे बहुत कुछ कह रही है | उनकी माने तो ऐसे-ऐसे  ‘बुक ऑफ रेविलिशन’ की बाते एक एक कड़ी को जोड़ कर जो बताएं है ओ वास्तव मे सच हुई है |

कुछ उदाहरण नीचे आप देख सकते है :-

लिस्बन में आया खतरनाक भूकंप जो अपने आप मे सबसे बडा सबूत है ये भूकंप 1 नवंबर 1755 को लिस्बन में आया था जो सबसे बड़े सबूत का एक निसनी है | इस भूकंप का रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 8.5 से भी अधिक मापी गई थी, ठीक उसके एक घंटे के अंदर 50 फीट ऊंची सुनामी आई की लोग इतनी बड़ी खौफ नायक मौत का मंजर आज भी लोगों के दिल दहला देती है इस घटना मे बहुत बड़े लेवल पर लोग तवाह हो गये थे| सब कुछ तहस-नहस हो गया था | इस घटना मे करीब एक लाख लोगों ने अपनी जान गंवाई थी| ऐसी दृश बन गया की लोग अपने घर छोड़ने को बजबूर हो गये और दूसरे इलाके मे बसने चले गये |

Sun and Earth

‘बुक ऑफ रिविलेशन’ की एक घटना का जिक्र “सेरेडा” ने की जिसमे ‘लिस्बन में आए भूकंप के 25 साल बाद “न्यू इंग्लैंड” मे हुई घटना वाली भविष्यवाणी सच हुई थी जिसका ‘बुक ऑफ रिविलेशन’ के भविष्यवाणी मे जिक्र है | इस दौरान दिन के उजाले में ही सूरज का रंग काला पड़ गया था और चारों ओर घना अंधेरा छाने लगा था |

ऐसे बहुत से उदाहरण है, एक वकीय और है जो की 13 नवंबर 1933 को नॉर्थ अमेरिका में हुआ इस तारीख को जब उत्तरी अमेरिका में आसमान चार घंटे के लिए आग जैसा नजर आने लगा था |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap