Wednesday, May 25Welcome to hindipatrika.in

शराबबंदी : गुजरात की राह पर चले नितीश कुमार – अब बना एक जन आंदोलन – जाने किन किन राज्यों में शराब पर है पांबदी

देश में नरेन्द्र मोदी ने जो एक के बाद एक गुजरात के मुख्य मंत्री के दौरान जो काम किये है ओ पुरे भारत में सराहनीय है | आजाद हिंदुस्तान में पहली बार यदि किसी राज्य में शराबबंदी हुवा ओ गुजरात राज्य है | नरेन्द्र मोदी अपने पहले 5 साल गुजरात के मुख्य मंत्री बनाते ही  गुजरात में पूरी तरह शराबबंदी  बंद कर दिया, जिससे अन्य राज्य भी बहुत प्रभावती हुए  और अपने – अपने अस्तर पर प्रयास भी किये|  जानकारी के अनुसार गुजरात में नरेन्द्र मोदी से प्रभावती हो कर देश के अन्य राज्य भी बिहार से पहले आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, मिजोरम और हरियाणा में भी शराब पर प्रतिबंध की घोषणा की गई लेकिन ये राज्य पूरी तरह से सफल नहीं हो पाए ।

नरेन्द्र मोदी से प्रभावित हो कर नितीश कुमार ने भी बिहार में शराबबंदी की दिशा में काम कर रहे है | जहाँ नरेन्द्र मोदी अपने पहले मुख्य मंत्री बनाते ही शराबबंदी का ऐलान कर दिया वही नितीश कुमार को ये निर्णय लेने के लिए तीसरी बार मुख्य मंत्री बनाना पड़ा | लेकिन खुशी की बात ये है की नरेन्द्र मोदी के राह पर चल कर नितीश कुमार ने भी बिहार में सफल शराबबंदी के दिशा में अच्छा काम किया है |

जानकारो के अनुसार अब इस राह पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने शराबबंदी लागू करने की दिशा की दिशा में योजना बना रही है। क्यों की इन राज्यों में भी जनता शराबबंदी की मांग कर रही है |

गुजरात में पहली बार नरेन्द्र मोदी के निर्णय एक निल का पत्थर साबित हो रहा है , एक- एक कर हर राज्य में एक जन आंदोलन का रूप ले रहा है | नीतीश कुमार का नरेन्द्र मोदी के राह पर चलने से इस अभियान को एक नई दिशा और शक्ति मिली है जो एक जन आंदोलन बन गया है |
जानकारों के अनुसार मध्य प्रदेश सरकार शिवराज सिंह चौहान भी शराबबंदी में चल पडे है | उन्होंने दक्षिण की गंगा कही जाने वाली नर्मदा नदी के किनारे पांच किलोमीटर के दायरे में शराब दुकाने बंद करने का आदेश भी जरीर कर दिया है | दरअसल जनता बहुत पहले से ही शराबबंदी की माँग करती रही है जिसे देख कर अब ओ इस दिशा में आगे बढ़ रहे है |

उत्तर प्रदेश में पहले से ही महिलाये शराबबंदी की मांग को लेकर आंदोलन कर रह हैं। जानकारों की माने  तो उत्तर प्रदेश की सरकार भी शराबबंदी पर बिचार कर रही है | उत्तर प्रदेश में शराब के चलते कितने परिवार बर्बाद हो गए  है। इस क्रम में महिलाये शराबबंदी की मांग कर रही है |

जानकारों की माने तो नरेन्द्र मोदी के राह पर नितीश कुमार के चलने से एक जन आंदोलन बन गया है। नरेन्द्र मोदी ने भी नितीश कुमार की खूब सराहन की और कहा की शराब बंदी से राजस्व में होने वाले हानि को केन्द्र सरकार पूरा करेगी |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap