Sunday, February 5Welcome to hindipatrika.in

Author: Mukesh Chakarwarti

भारत में कैंसर की सुनामी की चेतावनी | भारत में दुनिया के 20% कैंसर मरीज, डॉक्टरों की चेतावनी

मुख्य
कैंसर भारत में मौत का एक प्रमुख कारण है, आने वाले वर्षों में इस बीमारी की दर बढ़ने की उम्मीद है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के एक अध्ययन के अनुसार, भारत में कैंसर के मामलों की संख्या 2020 तक 1.5 मिलियन से अधिक और 2025 तक 2 मिलियन से अधिक होने का अनुमान है। अध्ययन में यह भी अनुमान लगाया गया है कि कैंसर 2020 तक भारत में सालाना 800,000 से अधिक मौतों का कारण। ऐसी कई आदतें हैं जो भारत में कैंसर के बढ़ते जोखिम में योगदान कर सकती हैं, जिनमें शामिल हैं: -तंबाकू का उपयोग: धूम्रपान और चबाने वाला तंबाकू भारत में कैंसर के लिए प्रमुख जोखिम कारक हैं, विशेष रूप से फेफड़े, मौखिक और गले के कैंसर के लिए। खराब आहार: प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ, चीनी और संतृप्त वसा में उच्च आहार कैंसर के खतरे को बढ़ा सकता है, साथ ही मोटापे में योगदान कर सकता है, जो कैंसर के लिए भी एक जोखिम कारक है। -शारीर

सर्दियों में डिहाईड्रेशन की समस्या बहुत सामान्य है लोग ज्यादा पानी पीना पसंद नहीं करते क्यूंकि सर्दियों में प्यास नहीं लगती

स्वास्थ्य
ठण्ड के दिनों में लोग ज्यादा पानी पीना पसंद नहीं करते क्यूंकि सर्दियों में प्यास नहीं लगती , इसी कारण लोग ठण्ड में पानी पीना नज़रअंदाज़ कर देते हैं। पर उनको पता नहीं की ठण्ड में पानी न पीने से या पानी कम पीने से बहुत सी बीमारियां हो सकती है।  मनुष्य शरीर के लिए पानी बहुत महत्त्व है।  पानी की कमी होने से इंसानी शरीर में बहुत सारी बीमारियां हो जाती है जैसे डिहाइड्रेशन (डिहाइड्रेशन) हो जाना जिसमे खड़े खड़े चक्कर आने लग जाते है , शरीर में दर्द , सर दर्द , थकान आदि समस्याएं होती हैं। किडनी में पथरी ( stone ) भी पानी के कमी से ही होता है।   वैज्ञानिको एवं डॉक्टरों की माने तो अनुसार महिलाओं के लिए रोजाना 2.7 लीटर और पुरुषों के लिए 3.7 लीटर पानी जरूरी है पर हम अपनी लापरवाही के कारण इतना पानी नहीं पीते जिसका अंजाम कभी कभी बहुत बुरा भी हो सकता है।  ठण्ड के समय में

डायबिटीज की वजह से आपको हो सकती है हियरिंग लॉस की समस्या | Diabetes and Hearing Loss

स्वास्थ्य
Research ने सुझाव दिया है कि diabetes और सुनवाई हानि के बीच एक संबंध हो सकता है। अध्ययनों से पता चला है कि मधुमेह वाले लोगों को मधुमेह के बिना सुनवाई हानि का अनुभव होने की अधिक संभावना है। सटीक तंत्र जिसके द्वारा मधुमेह सुनवाई हानि का कारण बन सकता है, अच्छी तरह से समझा नहीं गया है, लेकिन कई संभावित स्पष्टीकरण प्रस्तावित किए गए हैं। एक सिद्धांत यह है कि मधुमेह आंतरिक कान में छोटी रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचा सकता है, जिससे सुनवाई हानि हो सकती है। उच्च रक्त शर्करा का स्तर कान में नसों को भी नुकसान पहुंचा सकता है, जो सुनने को प्रभावित कर सकता है। इसके अलावा, मधुमेह वाले लोगों में उच्च रक्तचाप होने की संभावना अधिक होती है, जो सुनवाई हानि में भी योगदान दे सकता है। एक अन्य सिद्धांत यह है कि मधुमेह उम्र से संबंधित सुनवाई हानि (प्रेसबीक्यूसिस) के विकास के जोखिम को बढ़ा सकता है। अध्ययनों म

हार्ट अटैक आने से एक महीना पहले शरीर देता है ये संकेत | Symptoms of heart attack

लाइफस्टाइल (जीवन शैली), स्वास्थ्य
दिल का दौरा, जिसे मायोकार्डियल इन्फ्रक्शन के रूप में भी जाना जाता है, तब होता है जब हृदय के एक हिस्से में रक्त का प्रवाह अवरुद्ध हो जाता है, जिससे हृदय की मांसपेशियों को नुकसान होता है। दिल के दौरे के लक्षण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकते हैं, लेकिन कुछ सामान्य चेतावनी संकेत हैं जो शरीर दिल का दौरा पड़ने से एक महीने पहले दे सकता है। सामान्य संकेत - Symptoms of heart attack एक आम संकेत सीने में दर्द या बेचैनी है। यह छाती में जकड़न, परिपूर्णता या दबाव जैसा महसूस हो सकता है। यह सीने में जलन या दर्द जैसा भी महसूस हो सकता है। सीने का दर्द जबड़े, गर्दन, हाथ या पीठ तक भी फैल सकता है। एक और संकेत सांस की तकलीफ है। यह तब भी हो सकता है जब व्यक्ति आराम कर रहा हो और कोई शारीरिक गतिविधि नहीं कर रहा हो। इसके साथ आलस्य या चक्कर आना भी हो सकता है। थकान या कमजोरी भी हार्ट अटैक का
क्या आप  दुनिया का सबसे खतरनाक पौधा के बारे में जाते है ? जिसे एक बार छूने के बाद इंसान मरने की ख्वाहिश करने लगता है |

क्या आप दुनिया का सबसे खतरनाक पौधा के बारे में जाते है ? जिसे एक बार छूने के बाद इंसान मरने की ख्वाहिश करने लगता है |

मुख्य
पेड़ पौधे हमारे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा माने जाते है , जिनमे से कुछ हमारे खाने के काम आते हैं और कुछ को हम औषधि की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। इन्ही पौधों की तरह दिखने वाला  एक पौधा इंसान की जान भी ले सकता है , जी हाँ सही सुना आपने आज हम ऐसे पौधे के बारे में बताने जा रहे हैं जिसको सिर्फ छूने मात्र से इंसान की जान तक जा सकती है। सायद आप में से कुछ लोगों ने कल्पना तक नहीं किया होगा की प्रकृति के खूबसूरती में एक इस तरह के पौधे भी होते है ।  दरअसल, हम बात कर रहे हैं ऑस्ट्रेलिया में पाए जाने वाले पौधे जिम्पाई-जिम्पाई (Gympie Gympie) पौधे के बारे में जिसको सुसाइड प्लांट (Suicide-plant) भी कहा जाता है क्यूंकि इसको सिर्फ छूने से इंसान के शरीर में दर्द उठने लगता और कई इंसानो को अपनी जान से हाथ तक धोना पड़ता है। साल 1866 में Australia के जंगल में अचानक से कई जानवरों खासकर घ
100 किलो का अजगर जीसे दिखने से हड़कंप , JCB से किया रेस्क्यू, वीडियो हुआ वायरल

100 किलो का अजगर जीसे दिखने से हड़कंप , JCB से किया रेस्क्यू, वीडियो हुआ वायरल

दुनिया, मुख्य
अजगर तो सभी ने देखा होगा, भले ही ज्यादा तर लोगों ने इंटरनेट पर देखा होगा, एक ऐसा विशाल के जीव जो बड़े से बड़े जानवर को जींद निगल जाता है । एक ऐसे ही अजगर  का विडिओ जो इंटरनेट पर खूब वायरल हो रहा है। आप ने अक्सर एनाकोंडा के बारे मे सुन होगा जो दुनियाँ के सबसे बड़े और लम्बे जीव में से एक है, आप ने कई बार फिल्मों में देखा होगा, लेकिन ये विशाल काय जानवर काही और नहीं बल्कि ये घटना झारखंड के धनबाद में FCI कैंपस  की है, जहां वन विभाग के कर्मचारियों ने 100 Kg का अजगर को JCB से रेस्क्यू  कर उठाया, इस जानवर को बिना जेसीबी के रेस्क्यू नहीं किया जा सकता था, इस लिए आनन- फानन में JCB का सहारा लेना पड़ा । जब तक अजगर जमीन पर था लोगों ने ज्यादा सीरीअस हुए लेकिन जैसे ही JCB ने ऊपर उठाया लोग देख कर दंग रह गए। कई लोग तो भयभीत हो कर भाग गए लेकिन कुछ लोगों ने हिम्मत कर के विडिओ बनाया और
अब यूजर के लिए WhatsApp में आया Instagram और Facebook Messenger का ये फीचर, जानने के लिए पूरा पढ़ें ।

अब यूजर के लिए WhatsApp में आया Instagram और Facebook Messenger का ये फीचर, जानने के लिए पूरा पढ़ें ।

इंटरनेट, मुख्य, सोशल मीडिया
Emoji Reaction के बारे ने सायद आप जानते होंगे जो Instagram और Facebook Messenger में पहले से मौजूद है। इस फीचर को व्हाट्स ने पिछले महीने Emoji Reaction को लाया था, ये फीचर अब यूजर के लिए जारी कर दिया गया है जीसे आप WhatsApp के Android या iOS वर्जन दोनों में उपयोग कर सकते है। पहले इस फीचर को कुछ यूजर को दिया गया था लेकिन अब ये काफी यूजर्स के लिए उपलब्ध है हो चुका है, आप चाहें तो अपना WhatsApp चेक कर सकते है, एक खास बात और है की इस फीचर को आप पर्सनल या ग्रुप चैट में यूज कर सकते है। क्या ये फीचर केवल मोबाईल यूजर के लिए है ? मुझे पता है ये सवाल काफी यूजर के मन में पहले से चल रहा होगा, लेकिन मै आप को इस article में पूरी जनरी दूंगा। पहली बात ये की इस फीचर पर WhatsApp काफी समय से काम कर रहा था Android और iOS के साथ ही वेब वर्जन पर भी Emoji Reaction काम कर रहा था जो अब फिनली सबके
क्या स्पाइनी चुहिया (Female Spiny Mice) को भी पीरियड्स होती है? जाने पूरा सच !

क्या स्पाइनी चुहिया (Female Spiny Mice) को भी पीरियड्स होती है? जाने पूरा सच !

प्रेगनेंसी-पेरेंटिंग, महिलाएं, मुख्य, स्वास्थ्य
महिलाओ में हो रहे पीरियड्स से होने वाले दर्द, थकान जैसे दिक्कतों को दूर करने के लिए नए - नए प्रयोग होता रहा हैं. इसके लिए कई तरह के जानवरों के ऊपर भी रिसर्च कीये गए लेकिन सफलता नहीं मिली इस बात को ले कर वैज्ञानिकों के बीच काफी बड़ा मुद्दा बनता चला गया, बाद में एक बड़ी सोध और चर्चा के बाद स्पाइनी चुहिया (Female Spiny Mice) को माहवारी क्लब में सामील किया गया । आप को बता दें की इस धरती पर ऐसे दो जानवर चमगादड़ और छिपकली जो अपने घावों को बहुत तेजी से ठीक कर लेते है. इस तरह के छमता को एकोमिस कैहिरिनस (Acomys cahirinus) कहते हैं। ठीक इसी तरह स्पाइनी चुहिया (Female Spiny Mice) भी अपने घावों को बहुत तेजी से ठीक कर लेती है। इस चुहिया के भी पीरियड्स आते हैं। अब आप सोच रहें होंगे की आखिर ऐसा कौन आदमी था जिसने स्पाइनी चुहिया में पीरियड्स आते हैं इस बात की खोज की, तो हम आप को बता दें की इसकी  ब
April 2022: दिल्ली में कोरोना की फुल स्पीड में, 24 घंटे में 465 मरीज और 4 लोगों की मौत

April 2022: दिल्ली में कोरोना की फुल स्पीड में, 24 घंटे में 465 मरीज और 4 लोगों की मौत

कोरोना, मुख्य
फिर से दिल्ली में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार केवल  पिछले 24 घंटे में 465 मामले सामने आ हैं. बढ़ती स्पीड ने फिर से कोहराम मचा दिया है। जिस तरह से रफ्तार बढ़ रही है ऐसा लग रहा है की दिल्ली को कोरोना फिर से अपने गिरफ्त में ले लेंगी । ताजा आकड़ों के मुताबिक केवल 24 घंटों में वायरस से संक्रमण के 465  नए मामले सामने आए हैं जो सरकार और स्वास्थ्य विभाग के लिए एक चुनवती है । अभी तक स्वास्थ्य विभाग  ने जो आकडा जारी किया है जिसमें 24 घंटे में 8646 लोगों के  सैंपल का टेस्ट किया गया था इसमें से 461 की टेस्ट रिपोर्ट आई है. और कोरोना से 269 लोगों  रिकवर भी हुए है। दिल्ली में राज्य और केंद्र सरकार दोनों अलर्ट मोड में आ चुकी है और इसको ध्यान में रखते हुए स्कूलों को बंद करने पर बिचार किया जा रहा है।
क्या कभी हो पाएगा महिलाओं के पीरियड्स का ‘इलाज’? ज्ञानिकों के सामने बड़ा सवाल आज भी बरकरार है

क्या कभी हो पाएगा महिलाओं के पीरियड्स का ‘इलाज’? ज्ञानिकों के सामने बड़ा सवाल आज भी बरकरार है

महिलाएं, मुख्य, स्वास्थ्य
इलाहार्मोंस में गड़बड़ी या असंतुलन से होती है अनियमित माहवारी पीरियड्स / मासिक धर्म महिलाओं में होने वाली कॉमन प्रॉब्लम है। जी हाँ आप ने बिल्कुल सही पढ़ा लेकिन ये सुनने में जितना कॉमन प्रॉब्लम लग रहा है कभी कभी यह बेहद गंभीर बीमारी बन जाती है। लेकिन जब इरेग्युलर पीरियड्स की समस्या आए तो हमें नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। इससे ग्रस्त महिलाओं को कई प्रकार की समस्याएं होने लगती हैं। यदि इरेग्युलर पीरियड्स  की समस्या हो तो इसके लक्षण की पहचान कर समय से इसका इलाज करवाना चाहिए।    पीरियड्स क्या है ? पीरियड्स महिलाओ में होने वाली एक ऐसी प्रक्रिया है जो महिलाओ ने कम से कम 1 बार होत है  जो एक गर्भधारण की तैयारी की प्रक्रिया है इसका संचालन हॉर्मोन्स करते हैं. इस प्रक्रिया भ्रूण , गर्भाशय के अंदर पनपता है जो  कोशिकाओं को मिला कर एक परत बनती है, उसे एंडोमेट्रियम (Endometrium) कहते