Sunday, September 25Welcome to hindipatrika.in

गर्भवती होने के लिए कब क्या करे, क्या है सही समय

स्त्री रोग विशेषज्ञ के अनुसार गर्भवती होने के लिए जितना सेक्‍स करना जरुरी है उतना ही ये भी जरुरी है की इस बात की जानकारी होनी चाहिए की सेक्स कब किया जाए | इस पहलू पर ना ध्यान देने से कई बार गर्भधारण करने में भी परेशानी भी आती है |

क्या है कारण गर्भधारण न कर पाने के पीछे |

वैसे तो गर्भधारण कर पाने के पीछे कई कारण हो सकते है| साथ जी इसके तहत महिला और पुरुष के शारीरिक और मानसिक दोनों कारण हो सकते है | ज्यादा तर तो ज्ञान और जानकारी का अभाव होना जिसके तहत सही समय पर सेक्स ना करना, सेक्स के बातो को ध्यान में ना रखना |




लेकिन इन सब के साथ और भी बहुत से कारण हो सकते है | गर्भ धारण करने का प्रयत्न करने से पहले वे दोनों अपना शारीरिक परीक्षण करवा लें क्योंकि इससे गर्भावस्था से संबंधित कई समस्याओं का निदान करने में सहायता मिलती है।

जानें कि गर्भवती होने के लिए किश माह में सेक्‍स करने से गर्भधारण की संभावना अधिक होती है ।

आइए हम जानते है की आखिर सही समय क्या है जो सेक्स करने गर्भधारण की संभावना अधिक होती है। स्त्री रोग विशेषज्ञ के अनुसार पुरुष के शुक्राणु का साथी महिला के गर्भ में जाने से गर्भधारण होता है। महिला के अंडाणु से शुक्राणु का मेल होना और निषेचन की क्रिया का होना ही गर्भधारण है।




आम धारणा के अनुसार गर्भवती ज्यादा तर लोग सिर्फ सहवास करना जरूरी समझते है लेकिन इसके साथ ही सही समय पर सहवास करना भी मायने रखता है। साथ ही ये बात महिला और पुरुष दोनों को  ध्यान देने योग्य है कि पुरुष के शुक्राणु हमेशा लगभग एक जैसे ही होते हैं,  जिनमे महिला को गर्भवती कर सकने की पूरी संभावना होती है। लेकिन सबसे बड़ी बात है की महिला का शरीर ऐसा नहीं होता जो कभी भी गर्भवती हो सके। महिला गर्भवती होने की एक निश्चित समय होता है, एक बहुत ही छोटी सी समय अवधि होती है। यदि आप उस अवधि को पहचान कर उस समय सहवास करते हैं तो गर्भधारण की संभावना आश्‍चर्यजनक रूप से बढ़ जाती है।

कुछ विशेषज्ञ के अनुसार यदि आपके पीरियड्स 5 से 7 दिन चलते हैं और आप उसके तुरंत बाद संभोग करती हैं तो आपके गर्भवती होने की संभावना बहुत अधिक होती है। यदि आपका रक्त स्त्राव पीरियड के 6 वें बंद होता है तो 7 वें दिन संभोग करना आवश्यक होता है। ओवुलेशन पीरियड ही वह समय होता है, जिसमें कि महिला गर्भधारण कर सकती है और इस स्‍थिति को फर्टाइन स्‍टेज भी कहते हैं।

वैसे आप को बता दे की स्‍त्री रोग विशेषज्ञ में भी स्‍त्री को गर्भवती होने को ले कर एक मत नहीं है | कुछ स्‍त्री रोग विशेषज्ञ के अनुसार,  ’28 दिन के मासिक धर्म के साइकिल में 14वें दिन ओवुलेशन का है जो पीरियड शुरू होने के बाद से गिना जाता है, इस दौरान 12 से 18 दिन के बीच में सेक्‍स करने से गर्भ ठहरता है।’

अन्‍य स्‍त्री रोग विशेषज्ञ के अनुसार, ‘प्रेग्‍नेंट होने के लिए सेक्‍स का कोई विशेष दिन नहीं होता, नियमित सेक्‍स लाइफ में भरोसा रखिए और बेबी प्‍लानिंग के तीन महीने पहले से फोलिक एसिड के टेबलेट जरूर खाती रहें।’

ज्यादा तर देखा गया है की पुरुष केवल अपने संतुष्टि का खयाल रखते हैं और अपने पत्नी की कमोत्तेजना को तवज्‍जो नहीं देते। ऐसी स्थिति में ज्यादा तर देखा गया है की गर्भधारण में बहुत सी मुश्किलें आती हैं। एक्सपर्ट मानते है की ऐसी स्थिति में पुरुष के शुक्राणु ज्यादा समय तक जीवित नहीं रहते | अगर स्त्री सहवास के वक्त Orgasm ओर्गास्म प्राप्त कर लेती है तो गर्भधारण की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। क्‍योंकि तब पुरुष के शुक्राणु को सही जगह जाने का समय और माहौल मिलता है तथा शुक्राणु ज्यादा समय तक जीवित रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap