Sunday, December 4Welcome to hindipatrika.in

अटल बिहारी वाजपेयी अब नहीं रहें हमारें बिच – 93 साल की उम्र में एम्स में ली अंतिम सांसें, PAK, US, चीन से आए शोक संदेश


भारत रत्न, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में 5 बजकर 5 मिनट पर अंतिम सांसें ली | 93 वर्ष के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का लम्बे समय से इलाज चल रहा था |
वाजपेयी को 2014 में देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था | श्री अटल बिहारी वाजपेयी 3 बार प्रधानमंत्री रहे, वह पहली बार 1996 में प्रधानमंत्री बने और उनकी सरकार सिर्फ 13 दिनों तक ही चल पाई थी | 1998 में वह दूसरी बार प्रधानमंत्री बने थे और 1999 में वाजपेयी तीसरी बार प्रधानमंत्री बने और 5 सालों का कार्यकाल पूरा किया | 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 में वे लखनऊ से लोकसभा सदस्य चुने गए |

modi

उनके खुद के शब्दों में ‘मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं’.

2009 से ही वे व्हीलचेयर पर थे, वे डिमेंशिया नाम की गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे.

लेकिन बहुत दुःख होता है की आज भी बहुत से नेता अटल जी को दिलो जान से पसंद करने का दावा करते है लेकिन अटल जी के पसंद का विरोध भी करते है जी हां आप ने सच सुना , अटल जी के सबसे नजदीक शिष्य नरेन्द्र मोदी रहे, नरेन्द्र मोदी कभी भी सांसद और विधायक नहीं रहे फिर भी अटल जी ने नरेन्द्र मोदी जी को मुख्य मंत्री बनाया क्यों की अटल जी दूर दृष्टा थे ओ जानते थे की कौन हिरा है देश के लिए और आगे भारत को कौन एक नई रह दिखा सकता है |
modi

लोगों ने पूर्व प्रधानमंत्री को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap