Monday, December 5Welcome to hindipatrika.in

राष्ट्रोदय गीत। आरएसएस गीत राष्ट्रोदय। Rastoday Geet

 राष्ट्रोदय गीत

rastrauday

विश्व गगन पर फिर से गूंजे ,भारत माँ की जय जय जय।

बढ़ते जाएँ हो निर्भय , बढ़ते जाएँ हो निर्भय।।

कालजयी है चिंतन अपना , सभी सुखी हो एक ही सपना

जगती है परिवार हमारा , जगती है परिवार हमारा

चमके अपना शील विनय ,

बढ़ते जाए हो निर्भय , बढ़ते जाए हो निर्भय।।

अपनी शक्ति को परकटाये स्नेहामृत पल-पल छलकाए

भेद अभावों को हरना है ,भेद अभावों को हरना है

मंगलमय नव अरूणोदय ,

बढ़ते जाए हो निर्भय , बढ़ते जाए हो निर्भय।।

सृष्टि की समझे रचनाये ,सम्यक विकास पथ अपनाये

वायु , जल , भूमि  तत्तवों को ,वायु , जल , भूमि  तत्तवों को

सदा रखेंगे तेजोमय ,

बढ़ते जाए हो निर्भय , बढ़ते जाए हो निर्भय।।

जीवन व्रत यह चले अखंडित ,तन-मन -धन सर्वस्व समर्पित ,

जगत गुरु सिहासन सोहे ,जगत गुरु सिहासन सोहे

गौरव महिमा हो अक्षय ,

बढ़ते जाए हो निर्भय , बढ़ते जाए हो निर्भय।।

विश्व गगन पर फिर से गूंजे ,भारत माँ की जय जय जय।

बढ़ते जाएँ हो निर्भय , बढ़ते जाएँ हो निर्भय।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap